अमिताभ बच्चन के इन डायलॉग्स ने बना दिया बिग बी को एंग्री यंग मैन

महानायक अमिताभ बच्चन 11 अक्टूबर को 78 साल के हो गए हैं। उनके जन्मदिन पर बॉलीवुड से लेकर टॉलीवुड तक सभी सितारों ने जन्मदिन की बधाइयां दी है। अमिताभ बच्चन के कुछ डायलॉग ऐसे हैं, जिन्होंने बिग बी को एंग्री यंग मैन का खिताब दिला दिया है ।अमिताभ बच्चन आज भी सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं।

अमिताभ बच्चन फिल्म पिंक में “नो मिंस नो” बोलते हैं। यह डायलॉग करोड़ों लोगों की आंखों में आंसू ला देता है ।वही केबीसी के शो के दौरान जब वे दर्शकों को संबोधित करते हुए कहते हैं भाइयों और बहनों तो लोगों के चेहरे पर एक हल्की सी मुस्कान आ जाती है और उन्हें अजीब सी खुशी मिलती है। यही कारण है कि जब भी अमिताभ बच्चन को कोई तकलीफ होती है या उनके स्वास्थ्य में खराबी आती है तो लोग उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए पूजा अर्चना कर दुआएं करने लगते हैं।

अमिताभ बच्चन ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किया है। एक समय था जब उन्हें फिल्म इंडस्ट्री का एंग्री यंग मैन कहा जाता था। क्योंकि रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं, आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता… जैसे डायलॉग आज भी लोगों द्वारा दोहराए जाते हैं। फिल्म लावारिस का डायलॉग अगर अपनी मां का दूध पिया है तो सामने आ, शहंशाह का डायलॉग रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप होते हैं मगर नाम है शहंशाह, अग्नीपथ का डायलॉग पूरा नाम विजय दीनानाथ चौहान, बाप का नाम दीनानाथ चौहान, मां का नाम सुहासिनी चौहान, गांव मांडवा, शराबी का डायलॉग मूछें हो तो नत्थू लाल जैसी वरना ना हो, डॉन का डायलॉग डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं ना मुमकिन है, दीवार का डायलॉग मैं आज भी फेंके हुए पैसे नहीं उठाता। मिस्टर नटवरलाल का डायलॉग अरे यह जीना भी कोई जीना है लल्लू, कालिया का डायलॉग हम जहां खड़े होते हैं लाइन वहीं से शुरु होती है। इन सभी डायलॉग को आज भी फैन्स और लोग दोहराते रहते हैं और कई अवसरों पर यह डायलॉग बोलते हैं।


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This