टैटू को लेकर आमिर खान की बेटी Ira Khan को यूजर्स ने किया ट्रोल, कहा- ये इस्लाम में पाप है

नई दिल्ली | बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान (Aamir Khan) की बेटी इरा खान (Ira Khan) अक्सर सुर्खियों में रहती हैं। हाल ही में वो अपने नए प्रोफेशन को लेकर चर्चाओं में आई थीं। जिसको लेकर सोशल मीडिया पर इरा की तस्वीरें खूब वायरल हुई थीं। लेकिन अब उन्हें कई यूजर्स ने ट्रोल (Ira Khan trolled) करना शुरू कर दिया है।

दरअसल, इरा खान ने हाल ही में एक टैटू (Ira Khan tattoo) बनाया था जिसको उन्होंने अपना दूसरा प्रोफेशन बताया। साथ ही इरा खुद भी कई टैटू बनवा चुकी हैं। लेकिन कुछ लोगों को उनका ये काम पसंद नहीं आ रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स इरा को टैटू बनाने के लिए धर्म का पाठ पढ़ाने में लग गए हैं। एक यूजर ने लिखा- आप मुस्लिम हैं। आपको ये सब चीजें शोभा नहीं देती हैं। तो दूसरे यूजर ने लिखा- टैटू बनाना इस्लाम में पाप है। एक मुस्लिम होते हुए आप ये काम कैसे कर सकती हैं।

इरा को कई यूजर्स इस तरह के कमेंट्स करते हुए धर्म के नाम पर रूढ़िवादी सोच से ट्रोल कर रहे हैं। हालांकि इरा ने किसी भी कमेंट पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इरा ने कुछ दिन पहले ही अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट साझा किए थे। जिसमें एक तस्वीर में वो टैटू बनाते हुए नजर आ रही थीं। तो दूसरी वीडियो में उन्होंने अपने टैटू को दिखाया था। इरा ने एक लड़के के हाथ पर अपना पहला टैटू बनाया था।

जाहिर है कि इरा टैटू बनाने में बेहद परफेक्ट हो चुकी हैं। ये उनके पहले टैटू से सामने आ गया था इसीलिए उन्होंने इसे अपने प्रोफेशन में शामिल करने का मन बनाया है। वैसे तो इरा के बॉलीवुड डेब्यू को लेकर भी चर्चाएं होती रहती हैं।

Also read  Nawazuddin Siddiqui: Had no interaction with Aamir Khan on Sarfarosh, never met Sanjay Dutt during Munna Bhai

इरा बॉलीवुड में कब एंट्री करेंगी ये तो अभी नहीं कहा जा सकता लेकिन उनके बोल्ड फोटोशूट्स भी काफी लाइमलाइट बटोर चुके हैं। वहीं अब वो टैटू आर्टिस्ट के प्रोफेशन को भी एक ऑल्टरनेटिव करियर ऑप्शन में रख रही हैं।


Source Link

About Kabir Singh

Hello and thank you for stopping by T3B.IN! Here you will find the most rated, Bollywood, Hollywood, Entertainment related news articles by me, Kabir Singh, creator of this news website. Founder of T3B.IN. I love to share new things with people.

View all posts by Kabir Singh →