सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच में देरी होने से नाराज़ उनके करीबी, दोस्त और स्टाफ मेंबर्स ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के देहांत को हुए 100 दिनों से भी ज्यादा का समय हो चुका है। इतना समय बीतने के बाद भी सुशांत की मौत की गुत्थी उलझी पड़ी है। वहीं अब केस में ड्रग एंगल मिलने से केस की दिशा ड्रग जांच में की ओर घुम चुकी है। यह देखते हुए सुशांत के परिवार वाले और दोस्त काफी नाराज़ हैं। ऐसे में सुशांत के एक स्टाफ मेंबर और दोस्त ने भूख हड़ताल करने की बात कही है। उनका कहना है कि सीबीआई जान बूझकर अपनी जांच में देरी कर रही है।

जानकारी के अनुसार सुशांत को न्याय दिलाने के लिए उनके दोस्त गणेश हिवारकर और स्टाफ मेंबर अंकित आचार्य 2 अक्टूब यानी कि गांधी जयंती के अवसर पर भूख हड़ताल करने का निर्णय किया है। उनका कहना है कि केस में रोज नए एंगल के साथ जांच हो रही है। वह लोग नहीं चाहते कि केस को किसी भी तरह से नया मोड़ दिया जाए। दोनों ने ही सीबीआई की ओर से केस को सुलझाने में हो रही देरी पर निराशा जताई है। लेकिन इस बीच एनसीबी द्वारा किए जा रहे कामों की उन्होंने खूब तारीफ भी की है। आपको बता दें सुशातं को न्याय दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर कई कैंपेन भी चलाए जा रहे है।

आपको बता दें सुशांत का परिवार या दोस्त ही केस में हो रही देरी से नाराज़ नहीं हैं। बल्कि कुछ समय पहले सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए साफ शब्दों में कहा था कि उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि सीबीआई अपनी रिपोर्ट पेश करने में इतनी देरी क्यों कर रही है? उन्होंने यह भी कहा था कि केस में ड्रग्स मामले को इतना तूल इसलिए दिया जा रहा है ताकि लोगों का ध्यान सुशांत के केस हट जाए।

Also read  सुशांत सिंह राजपूत का लिखा हुआ नोट हुआ बरामद, स्मोकिंग, कृति और तपस्या का किया जिक्र


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This