स्नेहा उल्लाल को क्यों कहा जाता है ऐश्वर्या की हमशक्ल, मिलती-जुलती सूरत नहीं, ये है राज

मुंबई। सलमान खान ( Salman Khan ) के साथ बॉलीवुड डेब्यू करने वाली एक्ट्रेस स्नेहा उल्लाल ( Sneha Ullal ) को ऐश्वर्या राय ( Aishwarya Rai Bachchan ) की हमशक्ल कहा जाता है। जब उन्होंने डेब्यू किया उससे पहले ही इस बात के चर्चे होने लगे। हालांकि इसके पीछे भी एक राज छुपा है। ऐसा राज पर खुद स्नेहा ने बात की है।

यह भी पढ़ें: — Viral Video पर आए गंदे कमेंट्स पर नोरा फतेही ने लगाई लताड़, टेरेंस ने सुनाई साधु की कहानी

वर्ष 2005 में सलमान की फिल्म ‘लकी: नो टाइम फॉर लव’ आई। इस मूवी से स्नेहा उल्लाल ने बॉलीवुड में पर्दापण किया। ऐश्वर्या राय से मिलती-जुलती शक्ल के कारण मूवी को हाइप भी मिला। स्नेहा भी आते ही चर्चा में आ गईं। हालांकि इससे फिल्म को कोई फायदा नहीं मिला।

‘पीआर रणनीति का हिस्सा’

खुद की तुलना ऐश्वर्या से होने के बारे में स्नेहा ने कहा कि मैं अपनी स्कीन के साथ सहज महसूस करती हूं और मेरी तुलना किसी से होने पर दिक्कत नहीं है। हां, यह एक पीआर रणनीति का हिस्सा था कि मुझे ऐसे ही प्रचारित किया जाए। इसके चलते पूरा जोर एक जैसी दिखने पर ही दिया गया। वैसे, ये इतनी बड़ी बात नहीं होती।

‘एक्टिंग कॅरियर की शुरूआत कुछ ज्यादा ही जल्दी’

अभिनेत्री ने कहा कि मुझे अपने जीवन में पछतावा नहीं है, लेकिन लगता है कि मैंने अपने एक्टिंग कॅरियर की शुरूआत कुछ ज्यादा ही जल्दी कर दी। अगर इंतजार करती, तो शायद मैं खुद को बेहतर तरीके से ट्रेंड कर सकती थी या चीजों के महत्व को अच्छे से समझ सकती थी। गौरतलब है कि स्नेहा अब 15 साल बाद जी5 के थ्रिलर शो ‘एक्सपायरी डेट’ से डिजिटल डेब्यू करने वाली हैं। यह दो जोड़ों की कहानी है, जिसमें शादी के बाद प्रेम संबंधों को दिखाया गया है।

Also read  अनुभव सिन्हा पर फूटा अक्षरा सिंह का गुस्सा, वीडियो में पूछा 'भोजपुरी में नंगा नाच होता है तो क्या बॉलीवुड में पूजा होती है?'

यह भी पढ़ें: – यूजर बोला, ‘सिनेमाघर खुलें या नहीं, आप तो बेकार ही रहोगे’, Abhishek Bachchan ने दिया करारा जवाब

इंटीमेट सीन कई बार होते हैं मुश्किल

स्नेहा ने बताया, ‘ऐसे दृश्य फिल्माना मेरे लिए मुश्किल हो जाता है, मुझे लगता है कि ऐसा हर कलाकार के साथ होता होगा। यदि ऐसे सीन को सही ढंग से व्यवस्थित नहीं किया गया है या सही ढंग से कोरियोग्राफ नहीं किया गया है, तो वे माहौल को सहज नहीं रखते हैं। इससे मेरा प्रदर्शन प्रभावित होता है। इसीलिए मेरे लिए ऐसे सीन करना कभी-कभी मुश्किल हो जाता है। निजी जीवन में भी मुझे चीजें व्यवस्थित रखना बहुत जरूरी होता है।’


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This