भिड़े फिर फँसा मुसीबत में – भिड़े ने कर दी गड़बड़

गोकुलधाम वासिओ ने मिशन काला कौवा की टीम के लिए सम्मान समारोह आयोजित किया। लेकिन शादी बार बार पार्टी शार्टी का नाम ले लेकर बाकी पुरुष मंडली को टेंशन देता रहता है। अरे अगर रोशन साथ होती तो उसकी मजाल है की पार्टी शार्टी उसके मुँह से एक बार भी निकलती।

जब आनेवाले होते ही है तब अय्यर सब को बताता है की जेठालाल हमेशा लेट आता है। अब जब वो या बात कर रहा होता है तब पीछे से जेठालाल उसके पीछे आके खड़ा हो जाता है और साड़ी बाते सुनलेता है। अब अय्यर को चार बाते सुननी पड़ती है और फिर आखिर में अय्यर और भिड़े को माफ़ी मांगनी पड़ती है।

सभी लोग आचुके है और सबको सम्मान के साथ बैठाया जाता है। सबकुछ सही चल रहा है लेकिन अब जेठालाल सीढ़ीओ से नहीं चढ़ रहा था डायरेक्ट स्टेज पर चढ़ रहा था तो इसके लिए जेठालाल को टोक कर भिड़े ने बोहोत बड़ी गलती करदी। जवाब में जेठालाल ने भिड़े को कईओ बार सीडीओ से ना चढ़ने पर टोका।

माधवी ने भिड़े को बताया की वो शॉल लाना तो भूल ही गए। अब भिड़े टेंशन में की क्या करे, तब टप्पू और गोली बहार जाते है और कुछ अरेंजमेंट करके वापस आते है।

इधर भिड़े फॉर्मल स्पीच देता है और फिर बुलाता है तारक मेहता को। अब जब तारक स्पीच दे रहा है तो भिड़े पता नहीं क्यों कभी बाघा के ऊपर लेटने लगता है जिसकी वजह से सारे लोग टेढ़े होने लगते है। वहा से भिड़े को हटाया जाता है तब कभी वो चम्पक चाचा के सीर में टक्कर मार देता है जिसके बाद तो भिड़े को स्टेज से भगाना ही पड़ता है।

अब तारक मेहता जीतेन्द्र परमार की लिखी कविता सुनानेवाला होता ही है की टप्पूसेना हूटिंग करने लगती है। जिससे तारक नाराज़ होजाता है। सभी लोग टप्पूसेना को समजाते है और टप्पू सेना माफ़ी मांगती है। फिर तारक मेहता कविता सुनाता है और वो कविता सुनकर सब खुश होते है।

अब सब पोपटलाल से सुन्ना चाहते है की पोपटलाल ने कैसे मिशन काला कौवा को अंजाम दिया। तो पोपटलाल फुर्सद से सबको मिशन काला कौवा के बारेमे बाटना शुरू करता है।

अब अगले एपिसोड में देखना दिलचस्प होगा जब सम्मान में ओढ़ानेवाली सोल देख कर जेठालाल को डाउट होगा की ये अजीब सी सोल क्यों लग रही है? और जेठालाल के पूछने पर होटल का मैनेजर बताएगा की अरे! ये तो सोल नहीं लेकिन होटल के रूम का बेडकवर है।

तो अब सवाल ये पैदा होता है की अब भिड़े क्या करेगा?

Pin It on Pinterest

Share This