कहीं आप अपने बच्चे को जबरदस्ती खाना तो नहीं खिलाते? जानें फोर्स फीडिंग के साइड इफेक्‍ट्स

Rate this post

अगर आप जबरदस्‍ती बच्‍चे को खिलाने की कोशिश करेंगे तो इससे उसे खाना एक स्‍ट्रेसफुल काम लगेगा. ऐसे में बेहतर होगा कि आप एक अच्‍छे माहौल में उसे खिलाएं और भूख ना होने पर फोर्स फीडिंग का प्रयास ना करें.

Force Feeding Side Effects: बच्‍चों के विकास के लिए जरूरी है कि उन्‍हें पोषण से भरपूर भोजन दिया जाए. इसके लिए फल, सब्जियां, अंडे, दूध आदि उनके डाइट में शामिल किया जाना जरूरी होता है. लेकिन कई माता पिता की ये समस्‍या होती है कि उनके बच्‍चे खाना नहीं चाहते और हेल्‍दी फूड्स को देखकर खाने से भागते हैं. ऐसे में कई पैरेंट्स फोर्स फीडिंग की मदद से उन्‍हें खिलाना चाहते हैं. लेकिन आपको बता दें चाइल्‍ड फीडिंग गाइड के मुताबिक, आपका ये तरीका बच्‍चों की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है.

दरअसल, जब हम बच्‍चे को जबरदस्‍ती खिलाते हैं या ओवर फीडिंग कराने का प्रयास करते हैं तो इससे पाचनतंत्र पर विपरीत असर पड़ता है. यही नहीं, उनके खाने के प्रति रुचि भी खत्‍म होने लगती है. तो आइए जानते हैं कि ओवर फीडिंग या फोर्स फीडिंग कराना कितना नुकसानदेह हो सकता है.

See also  अगर आपको ही हर बार काटते हैं मच्छर तो हो सकते हैं ये 4 कारण, जानिए क्यों Mosquitoes के फेवरेट हैं आप

बच्चे को ओवरफीड या फोर्स फीडिंग करवाने के साइड इफेक्ट्स

रुची खत्‍म हो जाना

अगर आप बच्‍चे को भूख से अधिक खिलाने का प्रयास कर रहे हैं तो इससे उनका भोजन के प्रति रुचि खत्‍म हो जाती है. यही नहीं, खाने के प्रति नकारात्‍मक भावनाएं भी बच्‍चे के मन में घर कर जाती हैं.

भूख खत्‍म हो जाना

अगर आप बच्‍चे को जबरदस्‍ती खिलाने की कोशिश करते हैं या पेट भरा रहने पर भी फीड करने के लिए प्रेशर देते हैं तो इससे मानसिक रूप से उनकी भूख खत्‍म हो जाती है.

वजन बढ़ना

अगर आप पेट भरने के बाद भी बच्‍चे को खाने के लिए ब्‍लैक मेल कर रहे हैं या उनके मुंह में डालने का प्रयास करते हैं तो आपको बता दें कि जरूरत से अधिक खाने से बच्‍चों में ओबेसिटी की समस्‍या हो सकती है और वे मोटे हो सकते हैं.

See also  बढ़े हुए ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करेगा प्याज का पानी, डायबिटीज के मरीज ऐसे करें सेवन

पाचन संबंधी समस्याए

बच्चे को अगर आप जबरदस्ती खाने के लिए देते हैं तो इससे उनके पाचन तंत्र पर विपरीत असर पड़ सकता है. ऐसे में वे चबाते नहीं है और सीधा निगल लेते हैं. जिसकी वजह से पाचन तंत्र अच्छी तरह से काम नहीं कर पाता है.

बच्‍चा नहीं खाता है तो करें ये काम

-इस बात पर गौर करें कि आखिर बच्‍चा क्‍यों नहीं खाना चाह रहा.
–बच्‍चे की जगह खुद को रख कर देखें.
-उसे भूख से अधिक खिलाने से कोई फायदा नहीं, यह ध्‍यान में रखें.
-उन पर भरोसा करें और ध्‍यान दें कि सच में तो पेट में कुछ समस्‍या नहीं हो रही.
-एक बार में अधिक खाना देने की बजाए उसे दो या तीन बार में खिलाएं.
-उसके खाने के एक्‍सपेरिएंस को बोरिंग या थकाउ होने ना दें.
-अच्‍छे माहौल में खिलाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *