Jaya Prada ने किया रवि किशन का समर्थन, कहा- जया बच्चन इस मुद्दे पर राजनीति कर रही हैं

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी अभी तक सुलझ नहीं पाई है। लेकिन उनकी मौत की जांच के दौरान निकल ड्रग एंगल का विवाद अब संसद तक जा पहुंचा है। ड्रग्स मामले में इंडस्ट्री को लेकर लगातार हमला कर रहीं कंगना रनौत को जहां संसद में भाजपा सासंद व एक्टर रवि किशन का समर्थन मिला तो समाजवादी पार्टी की सांसद व एक्ट्रेस जया बच्चन ने दोनों का नाम लिया बिना निशाना साधा। जया बच्चन ने कहा कि कुछ लोगों के कारण पूरी इंडस्ट्री को बदनाम नहीं किया जा सकता है। इतना ही नहीं जया बच्चन ने यहां तक कह दिया कि जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं।

ऐसे में ड्रग्स के मुद्दे पर फिल्म इंडस्ट्री दो गुटों में बंट चुकी है। कोई जया बच्चन का समर्थन कर रहा है तो कोई उनके थाली वाले बयान की आलोचना कर रहा है। अब इस मामले में बीजेपी सांसद व एक्ट्रेस जया प्रदा ने रवि किशन का समर्थन करते हुए कहा है कि इस मामले में जया बच्चन राजनीति करने की कोशिश कर रही हैं। जया प्रदा ने कहा, मैं इस मामले में रवि किशन जी के कमेंट्स का पूरा सपोर्ट करती हूं जिसमें उन्होंने ड्रग एडिक्शन से यूथ को बचाने की अपील की है। हमें ड्रग्स के खिलाफ आवाज को उठानी चाहिए और हमें अपने युवाओं को बचाना चाहिए। मुझे लगता है कि इस मामले में जया जी राजनीति कर रही हैं।

बता दें कि रवि किशन ने ड्रग्स मामले में कहा था, ‘पाकिस्तान और चीन से देश में ड्रग्स की बड़े पैमाने पर सप्लाई होती है। देश में पंजाब और नेपाल के रास्ते ड्रग्स का खेल चल रहा है, जिसके कारण देश के युवा ड्रग्स का शिकार हो रहे हैं। बॉलीवुड को भी ड्रग्स की लत लग चुकी है।’ जिसके बाद जया बच्चन ने राज्य सभा के मॉनसून सेशन के दूसरे दिन कहा था, कुछ लोगों के कारण आप पूरी फिल्म इंडस्ट्री की इमेज को खराब नहीं कर सकते हैं। इसके बाद जया बच्चन बिना नाम लिए रवि किशन पर निशाना साधते हुए आगे कहा कि मुझे शर्म आ रही है कि कल लोकसभा में फिल्म इंडस्ट्री के ही एक सदस्य ने इस इंडस्ट्री के खिलाफ बात की। ये शर्मनाक है।

Also read  An actor who used to be a supermodel is ‘mastermind’ of Bollywood drugs nexus: report

उन्होंने आगे कहा, जिन लोगों ने इंडस्ट्री में अपना नाम बनाया आज वे ही इसे गटर कह रहे हैं। मैं इसके पूरी तरह खिलाफ हूं। मैं उम्मीद करती हूं कि सरकार इन लोगों को कहे कि वे इस तरह की भाषा का इस्तेमाल ना करें।


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This