जिंदगी में अच्छे दोस्त बनाइए और कैंसर से छुटकारा पाइए! फ्रेंडशिप का हेल्थ पर होता है गहरा असर

Rate this post

अक्सर कहा जाता है कि अच्छे दोस्त मुश्किल समय में काम आते हैं और परेशानियों को सुलझाने में मदद करते हैं. कई स्टडी में भी यह बात साबित हो चुकी है. दोस्ती फिजिकल और मेंटल हेल्थ के लिए बढ़िया होती है.

हमारी जिंदगी में फैमिली और फ्रेंड्स का सबसे ज्यादा महत्व होता है. हर खुशी और गम में दोस्त हमारे साथ खड़े होकर हौसला देते हैं. अधिकतर लोगों के कुछ करीबी दोस्त होते हैं, जिनसे वे हर बात शेयर करते हैं. अब तक कई स्टडी में भी यह बात सामने आ चुकी है कि अच्छे लोगों के साथ दोस्ती मेंटल हेल्थ के लिए काफी बढ़िया मानी जाती है. अब एक स्टडी में दोस्ती से जुड़ी हैरान करने वाली बातें सामने आई हैं.

दोस्ती का मेंटल हेल्थ ही नहीं, बल्कि फिजिकल हेल्थ पर भी गहरा असर होता है. यह लोगों को कैंसर और हार्ट डिजीज जैसी गंभीर बीमारी से बचाती है. सुनकर यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह बातें सही हैं. चलिए इस बारे में विस्तार से जान लेते हैं.

See also  बारिश के मौसम में तेजी से फैल रहा सर्दी-जुकाम, डॉक्टर से जानें इससे बचने का तरीका

मेडिकल न्यूज टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक हेल्दी लाइफ के लिए बेहतर सामाजिक संबंध जरूरी होते हैं. इंसान को आगे बढ़ने के लिए अच्छे दोस्तों की जरूरत होती है. बचपन में सभी के लिए दोस्त बनाना आसान होता है, लेकिन वयस्कों के लिए यह काफी चुनौतीपूर्ण होता है. अच्छी बात यह है कि बचपन की दोस्ती के फायदे हमारे साथ लंबे समय तक बने रहते हैं. एक हालिया स्टडी में खुलासा हुआ है कि जिन लोगों के अच्छे दोस्त होते हैं, उन्हें कार्डियोवैस्कुलर डिजीज, हाई ब्लड प्रेशर, कैंसर और कमजोर इम्यून सिस्टम जैसी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है. जो लोग समाज और दोस्तों से दूर रहते हैं, उनमें इन बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है. इसके अलावा दोस्ती मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है.

2014 की एक स्टडी के मुताबिक मजबूत दोस्ती से मेंटल हेल्थ बेहतर होती है. यह लोगों के अकेलेपन की समस्या को दूर करती है. अकेलापन कई मानसिक परेशानियों की वजह बन सकता है. अकेलेपन की फीलिंग से डिप्रेशन, पर्सनैलिटी डिसऑर्डर, एल्कोहल की लत, नींद की परेशानी और कई शारीरिक परेशानियां हो सकती है. इससे बचने के लिए सभी को फ्रेंड सर्कल बनाना चाहिए. दोस्ती हमें अकेलेपन के प्रतिकूल प्रभावों से बचा सकती है. साथ ही आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर सकती है.

See also  Skin पर Aloe Vera लगाने के बाद इस चीज का न करें यूज, हो सकता है नुकसान

इस हार्मोन का होता है अहम रोल

सोशलाइजेशन हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों को लाभ पहुंचाता है. इसकी वजन ऑक्सीटोसिन हार्मोन होता है. ऑक्सीटोसिन एक हार्मोन और न्यूरोट्रांसमीटर है, जो हाइपोथैलेमस में निर्मित होता है. यह सहानुभूति, उदारता और विश्वास से भी जुड़ा होता है, जो सभी दोस्ती में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने नाक स्प्रे के माध्यम से लोगों को ऑक्सीटोसिन दिया. इससे लोगों में एक दूसरे के प्रति विश्वास बढ़ा और जोखिमों को स्वीकार करने के लिए बल मिला.

Source: News 18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *