NCB ने कोर्ट में किए कई बड़े खुलासे- ड्रग सप्लायर्स के सिंडिकेट की ऐक्टिव मेंबर हैं Rhea Chakraborty, बड़े लोगों से हैं संबंध

नई दिल्ली | सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput case) में ड्रग्स को लेकर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने धर-पकड़ तेज कर रखी है। वहीं इसी केस में भायखला जेल में बंद रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की जमानत याचिका पर आज बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) में सुनवाई चल रही है। रिया ने अपनी याचिका में कई दलील दी हैं तो वहीं एनसीबी ने भी इसका विरोध जताते हुए एक हलफनामा दायर किया है। जिसमें रिया को लेकर कई हैरान करने वाले दावे किए गए हैं। एनसीबी (NCB) ने कहा है कि ड्रग केस में पूरी तरह से रिया शामिल थीं। वो ड्रग सिंडिकेट (drug syndicate) की एक्टिव मेंबर हैं। एनसीबी ने इस बात का दावा किया है कि उनके पास रिया के खिलाफ पूरी सबूत मौजूद हैं। रिया ड्रग सप्लाई को सुशांत के पैसों द्वारा फाइनेंस किया करती थीं।

क्रेडिट कार्ड से खुलेंगे दीपिका, सारा और श्रद्धा के ड्रग्स को लेकर बड़े राज? बड़ी प्लानिंग की तैयारी में NCB

एनसीबी जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने एफिडेविट में कहा है कि रिया चक्रवर्ती के खिलाफ वॉट्सऐप चैट, मोबाइल, लैपटॉप और हार्ड ड्राइव में कई सबूत मिले हैं। रिया ना सिर्फ ड्रग्स का लेन-देन करती थीं बल्कि अवैध कारोबार को फाइनेंस भी करती थीं। सुशांत अगर ड्रग्स ले रहे थे तो रिया ने इस बात को छुपाया और उनका साथ दिया। रिया ने अपने घर में ड्रग्स को रखा और सुशांत को भी दिया। जांच एजेंसी द्वारा ये भी कहा गया है कि रिया ने ड्रग्स को लेकर क्रेडिट कार्ड, पेमेंट गेटवे और कैश के जरिए पेमेंट किया।

Also read  SSR Case: धारा 306 के तहत सीबीआई करेगी सुशांत सिंह राजपूत के परिवार से पूछताछ, नहीं मिले हत्या के कोई सबूत

क्या होती है Doob सिगरेट? जिसे लेती हैं Deepika Padukone, NCB की पूछताछ में लिया था नाम

एनसीबी ने आगे कहा है कि रिया कई बड़े लोगों को भी ड्रग्स की सप्लाई करती थीं। इस पूरी प्रक्रिया में उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के पैसों का इस्तेमाल किया है। एनसीबी ने ये पाया है कि सुशांत का पूरा फाइनेंस रिया के अंडर में था। रिया ही उनके पैसों की देख-रेख करती थीं। एनसीबी का कहना है कि अगर जेल से छूट गई तो हो सकता है कि वो कुछ सबूतों के साथ छेड़छाड़ करे क्योंकि अभी जांच जारी है। गौरतलब हो कि रिया चक्रवर्ती दो बार जमानत याचिका दाखिल कर चुकी हैं। जिसको लेकर 6 अक्टूबर तक उन्हें न्यायिक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया था।


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This