Tiki Taka Movie Review: परमव्रत चट्टोपाध्याय की फिल्म में खेल और अपराध की दिलचस्प जुगलबंदी

-दिनेश ठाकुरनिदा फाजली ने फरमाया है- ‘दूर रहकर तो हर शख्स भला लगता है/ कोई नजदीक से देखे तो पता लगता है।’ ज्यादातर फिल्मों के साथ यही होता है। प्रदर्शन …

Read More

Nishabdham Review: फिर हॉलीवुड के किस्से की धुलाई, न ज्यादा खौफ है, न गहराई

-दिनेश ठाकुर एक मूक-बधिर युवा लेखिका शहर से दूर सुनसान इलाके के मकान में पालतू बिल्ली के साथ रहती है। उसकी सहेली कभी-कभी उससे मिलने आती रहती है। अचानक सहेली …

Read More

Khaali Peeli Movie Review : कहीं की ईंट, कहीं का रोड़ा, भानुमति ने कुनबा जोड़ा

-दिनेश ठाकुर मुम्बई की खिचड़ी भाषा को, जिसे टपोरियों की भाषा भी कहा जाता है, वहां बनने वाली हिन्दी फिल्मों में इतनी बार दोहराया जा चुका है कि हर कोई …

Read More