Viral Video: जब Ajay Devgn को पीटने के लिए जुटी हजारों की भीड़, बेटे को बचाने पिता ले आए थे 250 फाइटर्स

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन (Ajay Devgn) का एक पुराना इंटरव्यू वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में अजय और साजिद खान (Sajid Khan) एक पुरानी घटना को याद कर रहे हैं। इसी घटना में अजय के पिता वीरू देवगन (Veeru Devgan) की एंट्री 150 से 250 फाइटर्स के साथ होती है।

जीप के सामने अचानक आ गया दौड़ता हुआ बच्चा

वीडियो में साजिद इस घटना का पूरा किस्सा बताते नजर आ रहे हैं। साजिद बताते हैं कि अजय के पास सफेद रंग की एक जीप थी जिसमें हमसब घूमा करते थे। एक दिन एक होटल के पास वाली गली में जीप ड्राइव करते हुए ले गए। सामने से अचानक एक बच्चा पतंग के पीछे दौड़ता हुआ आ गया। इसे देख अचानक ब्रेक लगाना पड़ा। बच्चा टकराने से बच गया, लेकिन डर के मारे रोने लगा। उसकी आवाज सुन, हजारों लोग एकत्रित हो गए। हम लोगों का समझाने की कोशिश कर रहे थे कि इसमें अजय की गलती नहीं है। बच्चे का किसी तरह की चोट नहीं आई है।

Sushant Singh Case: सुब्रमण्यम स्वामी का दावा- एम्स की रिपोर्ट के बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय को नहीं दी गई जानकारी
साजिद के समझाने पर भी लोग बोलने लगे कि बाहर निकलो, ये अमीर लोग बहुत तेज गाड़ी चलाते हैं। किसी तरह ये खबर अजय के पिता वीरू देवगन को मिली। करीब 10 मिनट के अंतराल में वे 150 से 250 फाइटर्स को लेकर उस जगह पहुंच गए। सबकुछ हिन्दी मूवी के सीन जैसा हो रहा था।

पिता को प्रेरणा मानते हैं अजय
बता दें कि वीरू अपने जमाने के बड़े एक्शन डायरेक्टर्स में से एक थे। अजय अपने पिता को अपनी प्ररेणा भी मानते हैं। वीरू को स्टंट सीन के अलावा निर्देशन में भी रूचि थी। उन्होंने अजय देवगन स्टारर फिल्म ‘हिन्दुस्तान की कसम’ का निर्देशन भी किया। महानायक अमिताभ बच्चन का भी इस फिल्म में अहम किरदार था।

Also read  एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, Kamal Haasan ने कहा- हम लोगों की पसंद की वजह से एक दूसरे से जुड़े थे

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड प्रोडक्शन हाउसेज ने किया चैनलों पर केस, Kangana Ranaut बोलीं- मुझ पर भी केस कर दो, जब तक जिंदा हूं…

पिछले साल हुआ निधन
वीरू देवगन का पिछले साल निधन हो गया था। उन्होंने 80 से ज्यादा फिल्मों में स्टंट कोरियोग्राफर का काम किया था। वे मुंबई में हीरो बनने का सपना लेकर आए थे, लेकिन स्टंट डॉयरेक्टर बन गए। हालांकि वे खुद स्टार नहीं बन पाए, लेकिन अपने बेटे अजय देवगन को स्टार बनाने में मदद की। वर्ष 1992 में वीरू को ‘फूल और कांटे’ के लिए बेस्ट एक्शन डॉयरेक्टर का अवॉर्ड दिया गया। 2016 के जी सिने अवॉर्ड में उन्हें लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया।


Source Link

Pin It on Pinterest

Share This